दादरी से बसपा विधायक सतवीर गुर्जर लगाने चाहते हैं हैट्रिक

हरवीर चौहान

नोएडा। चुनावी शंखनाद के बाद जिले में सियासी पारा चढ़ गया है। दादरी और जेवर विधानसभा सीट पर सपा और बसपा ने अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवार अगले सप्ताह घोषित होने की उम्मीद है। दादरी से बसपा के मौजूदा विधायक सतवीर गुर्जर हैट्रिक लगाने की उम्मीद में लगातार तीसरी बार चुनाव में मैदान में उतरे हैं। वे मतदाताओं की उम्मीद पर खरा उतरते हैं कि नहीं यह भविष्य बताएगा। देखा जाये तो दादरी में तेज सिंह भाटी, रामचंद्र बिकल व महेंद्र सिंह भाटी को छोड़कर मतदाताओं ने किसी को तीसरी बार विधायक बनने का मौका नहीं दिया। रामचंद्र बिकल को तो मुख्यमंत्री पद का भी दावेदार माना गया था। महेंद्र सिंह भाटी उत्तर प्रदेश विधान मंडल में जनता दल के उप नेता रहे, जबकि तेजसिंह भाटी उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री रहे। वे दादरी क्षेत्र से रिकॉर्ड तोड़ सात बार चुनाव लड़े थे।1दादरी विधानसभा सीट से कांग्रेस के विजयपाल सिंह भाटी दो बार विधायक चुने गए। तीसरी बार 1985 में जनता ने उन्हें हरा दिया। इसी तरह भाजपा के नवाब सिंह नागर को दादरी की जनता ने दो बार लगातार विधायक बनाया, लेकिन तीसरा मौका नहीं दिया। दो बार वह बाद में भी चुनाव लड़े, लेकिन दोनों बार हार का सामना करना पड़ा। महेंद्र सिंह भाटी की हत्या के बाद उनके बेटे समीर भाटी 1993 में विधायक चुने गए। समीर भाटी ने इसके बाद चार बार चुनाव लड़ा। तीन बार उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ते हुए भी तीस हजार से अधिक मत प्राप्त किए। चौथी बार उन्हें कांग्रेस ने चुनाव मैदान में उतारा, लेकिन वह चुनाव नहीं जीत सके।

टिप्पणी भेजें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक क्षेत्रः चिह्नित कर रहे हैं *


Leak Story
Rajpur Road, Dehradun, Uttrakhand

Leak Story

Back to Top